IND vs WI: हार्दिक पंड्या के सन्यास की खबर के बीच भारत को मिला उनके जैसा खूंखार ऑलराउंडर

IND vs WI

भारत बनाम वेस्टइंडीज (IND vs WI) के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज के दूसरे मुकाबले में भारत ने 2 विकेट से वेस्टइंडीज को हरा दिया है. अब भारत इसी के साथ 2.0 से सीरीज में अपनी बढ़त बना ली है. भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने इस मैच में कमाल का अपना प्रदर्शन दिखाया. इसी दौरान भारतीय टीम (Team India) को एक ऐसा स्टार ऑलराउंडर मिल गया है जो हारे हुए मैच को जिताने का माद्दा रखता है. ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) की तरह ही यह खिलाड़ी भी धुआंधार बल्लेबाजी के साथ खतरनाक गेंदबाजी भी कर रहा है.

मिडिल आर्डर के लिया मिला स्थाई बल्लेबाज

deepak

युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी जब रिटायरमेंट लिया था तब से भारतीय टीम (Team India) में मिडल ऑर्डर के लिए कोई भी अस्थाई बल्लेबाज नहीं मिल पाया है. लेकिन अब दीपक हुड्डा (Deepak Hooda) ने मिडिल ऑर्डर के लिए का स्थाई बल्लेबाज के रूप में खुद को साबित कर दिया है. वह मिडिल ऑर्डर में शानदार पारी खेल रहे हैं. वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन वनडे सीरीज के दूसरे मैच में उन्होंने मिडिल ऑर्डर पर बल्लेबाजी करते हुए 33 रन बनाए, जिसके बाद से आने वाले खिलाड़ियों पर में जीतने का दबाव कम पड़ गया था। यही नहीं, हुड्डा टी20 मैचों में भी खुद को साबित किया है। आयरलैंड के खिलाफ तो उन्होंने कमाल के शतक लगाए थे।

IND vs WI के बिच गेंदबाजी में कर रहे कमाल

hooda bowling

इस मैच में दीपक हुड्डा (Deepak Hooda) ने बल्लेबाजी के अलावा गेंदबाजी में भी शानदार प्रदर्शन दिखाया है. दूसरे मैच पर एकदिवसीय मैचों में डेब्यू करने वाले आवेश खान के गेंदों पर वेस्टइंडीज के खिलाड़ी हावी हो रहे थे, तब शिखर धवन (Shikhar Dhawan) ने दीपक हुड्डा (Deepak Hooda) को मोर्चा संभालने के लिए गेंदबाजी दी. तब स्ट्राइक पर धुआंधार बल्लेबाजी कर रहे काइल मेयर्स खड़े थे, हुड्डा ने अपनी पहली ही गेंद पर मेयर्स को आउट कर दिया, लेकिन कमाल की बात यह थी कि उनका कैच हुड्डा ने खुद ही लिया. हुड्डा का यह प्रदर्शन देख सभी हैरान रह गए. उन्होंने 4.67 की इकॉनोमी के साथ 9 ओवर में 1 विकेट लेकर मात्र 42 रन दिए.

Deepak को टी20 वर्ल्ड कप में मिल सकती है जगह

deepak t20

हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) को वेस्टइंडीज दौरे पर आराम दिया गया था, जिसके चलते वह इस सीरीज से बाहर रहे. लेकिन दीपक हुड्डा (Deepak Hooda) ने अपने शानदार खेल से पांड्या की कमी पूरी कर दी. हुड्डा की गेंदबाजी इतनी खतरनाक है कि, उनकी गेंदों का सामना करना बल्लेबाजों के लिए मुश्किल हो जाता है. वह अपनी गेंदबाजी की बदौलत चंद गेंदों में खेल का रुख बदलने का माद्दा रखते हैं.

यही नहीं वह गेंदबाजी और बल्लेबाजी के अलावा कमाल की फील्डिंग भी करते हैं, जिसके चलते मैदान में उनकी फुर्ती देखनी बनती है. अगर इस दौरे पर हुड्डा का प्रदर्शन अच्छा रहा तो उन्हें आने वाले T20 वर्ल्ड कप में टीम में जगह मिलने की अधिक संभावना बन सकती है.

यह भी पहें- IND vs WI: मौका मिलते ही श्रेयस अय्यर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दर्ज किया ये खास रिकॉर्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *