Ben Stokes को संन्यास लेने पर बोले कप्तान Jos Buttler, ‘ऐसा खिलाड़ी पीढ़ियों में एक पैदा होता है…’

Ben Stokes

इंग्लैंड के दिग्गज ऑलराउंडर बेन स्टोक्स (Ben Stokes) ने एकदिवसीय मुकाबलों से संन्यास ले लिया है। उन्होंने अपना आखिरी एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच मंगलवार को खेला। चेस्टर ली स्ट्रीट के ग्राउंड में खेले गए इस एकदिवसीय मुकाबले में स्टोक्स कोई बड़ी पारी तो नहीं खेल सके लेकिन उनके साथ काफी इमोशनल हो गए। स्टेडियम में मौजूद लोगों ने जब स्टोक्स के लिए तालियां बजाने शुरू की तो वह भी भावुक होकर रोने लगे। कई क्रिकेट प्रेमियों ने स्टॉक्स के इस फैसले से नाराजगी जताई तो कई लोग दुखी भी हुए। वही इंग्लैंड के वनडे टी20 के कप्तान जोस बटलर (Jos Buttler) कहां की मैदान पर हमें इस धुरंधर ऑलराउंडर की कमी हमेशा महसूस होगी।

Ben Stokes के इस फैसले से सभी दुखी

jos

इंग्लैंड के कप्तान जोस बटलर (Jos Buttler) ने बेन स्टोक्स (Ben Stokes) की तारीफ करते हुए कहा कि,

‘पीढ़ियों में एक बार पैदा होता है ऐसा खिलाड़ी।’

वहीं पूर्व कप्तान इयोन मोर्गन (Eoin Morgan) ने इमानदार खिलाड़ी बताया। 2019 में इंग्लैंड के लिए विश्व कप जीत के नायक बेन स्टोक्स की एकदिवसीय मैचों से संन्यास लेने वाली घोषणा से पूरा क्रिकेट जगत सकते में है।

खिलाड़ी पीढ़ियों में एक बार पैदा होता है ऐसा खिलाड़ी

jos butler

अपने घरेलू मैदान डरहम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपना आखिरी एकदिवसीय मुकाबला खेलते हुए बेन स्टोक्स ने केवल 5 रन बनाया। हालांकि इस मैच में 62 रन से इंग्लैंड की हार हुई। कप्तान जोस बटलर (Jos Buttler) ने मैच खत्म होने के बाद कहा की,

‘बेन की तरह खेलने वाले खिलाड़ी पीढ़ियों में एक बार पैदा होते हैं।’

इसलिए हमें एकदिवसीय मुकाबलों में उनके बिना अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चुनौतीपूर्ण होगा।

यह कड़वा घूंट हमें पीना पड़ेगा

buttler

बटलर ने आगे कहा कि,

‘हमें उनकी कमी खलेगी और इंग्लैंड के प्रशंसक के तौर पर यह कड़वा घूंट हमें पीना पड़ेगा। यह वास्तव में बेहद ही दुखद है की वनडे फॉर्मेट में हमें बेन की सेवाएं नहीं मिलेंगे। वनडे क्रिकेट में नुकसान का इंग्लैंड को निश्चित तौर पर टेस्ट क्रिकेट में फायदा मिलेगा।’

31 साल की उम्र में संन्यास लेना दुखद

ben

स्टोक्स के इतने बड़े फैसले से पूर्व कप्तान मोर्गन भी बेहद दुखी हैं। उन्होंने स्टोक्स की सराहना करते हुए कहा कि,

‘वह सच्चे नेतृत्वकर्ता हैं जो विश्वास दिलाते हैं कि कुछ भी असंभव नहीं है। उनके साथ इतने वर्षों तक खेलना बहुत बड़ी खुशी है और उनका 31 साल की उम्र में संन्यास लेना दुखद।’

वैसे बेन स्टोक्स (Ben Stokes) को हम सीमित ओवर वाले टी-20 मैचों में खेलते हुए देख सकते हैं इसके अलावा उन्हें टेस्ट टीम की कमान संभालते हुए भी हम देख सकते हैं। हाल ही में भारत के खिलाफ एजबेस्टन में खेले गए पांचवें टेस्ट में इंग्लैंड ने स्टोक्स की कप्तानी में भारत को हराया था।

यह भी पढ़ें- Ravi Shastri ने कहा- T20 सीरीज कम करना होगा वरना खिलाड़ियों का बढ़ेगा लोड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *