ऋषभ पंत को याद आया पाकिस्तान से पिछला टी20 वर्ल्ड कप का हार, कोहली को लेकर दिया चौकाने वाला बयान

ऋषभ पंत

ऋषभ पंत को याद आया पाकिस्तान से पिछला टी20 वर्ल्ड कप का हार, कोहली को लेकर दिया चौकाने वाला बयान

23 अक्टूबर को मेलबर्न में पाकिस्तान के खिलाफ भारत का पहला टी 20 वर्ल्ड कप 2022 मुकाबला होने जा रहा है. इससे पहले भारतीय टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने कहा कि कट्टर प्रतिद्वंद्वियों से खेलना हमेशा खास होता है. पंत ने यह भी कहा कि विराट कोहली का अपार अनुभव दबाव की स्थितियों से निपटने में मदद करेगा क्योंकि उन्हें पूर्व कप्तान के साथ अपनी बल्लेबाजी साझेदारी को फिर से जगाने की उम्मीद है.

परिस्थितियों के साथ लड़ना सिखाते हैं विराट कोहली

ऋषभ पंत ने टी 20 वर्ल्ड कप साइट के हवाले से कहा, “वह (कोहली) वास्तव में आपको सिखा सकते हैं कि उन परिस्थितियों से कैसे लड़ना है जो आपकी क्रिकेट करियर को आगे बढ़ाने में आपकी मदद कर सकती हैं. इसलिए हमेशा की तरह उनके साथ बल्लेबाजी करना अच्छा है. आपके साथ बल्लेबाजी करने का बहुत अनुभव रखने वाला व्यक्ति होना अच्छा है क्योंकि वह आपको ले सकता है कि खेल को कैसे आगे बढ़ाया जाए और उस तरह के रन-ए-बॉल दबाव को कैसे बनाए रखा जाए।”

ऋषभ पंत ने याद आया 2022 का टी20 वर्ल्ड कप

ऋषभ पंत ने पिछले साल के टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए मुकाबले को याद करते हुए कहा की, ”मुझे याद है कि मैंने हसन अली को एक ही ओवर में दो छक्के मारे थे. हम सिर्फ रन रेट बढ़ाने की कोशिश कर रहे थे क्योंकि हमने शुरुआती विकेट खो दिए थे, तब मैंने और विराट भाई ने साझेदारी की थी. हम रन रेट बढ़ा रहे थे और मैंने एक हाथ से दो छक्के मारे… वो मेरा खास शॉट था.”

यह भी पढ़ें- ऑस्ट्रेलियाई टीम को लगा बहुत बड़ा झटका, Josh Inglis हुए टी20 वर्ल्ड कप से बाहर

आपको बता दे की पिछले साल टी 20 विश्व कप में भारत पाकिस्तान के खिलाफ हार गया था. इस मुकाबले में मोहम्मद रिजवान और बाबर आज़म ने 10 विकेट की व्यापक जीत के लिए बिना किसी नुकसान के 151 के लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा किया. वहीं इस मुकाबले में ऋषभ पंत ने 39 रन की तेज पारी के दौरान तत्कालीन कप्तान कोहली के साथ 53 रन जोड़े थे।

राष्ट्रगान के समय खड़े हो जाते हैं मेरे रोंगटे

चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान से खेलने के अनुभव के बारे में बात करते हुए पंत ने कहा,

पाकिस्तान के साथ खेलना हमेशा ही रोमांचक होता है क्योंकि उस मैच को लेकर एक विशेष उत्साह होता है। न केवल हमारे लिए, बल्कि प्रशंसकों और सभी के लिए बहुत सारी भावनाएं शामिल हैं। जब आप मैदान पर जाते हैं तो एक अलग तरह का अहसास होता है, एक अलग तरह का माहौल होता है और जब आप मैदान पर उतरते हैं तो आप लोगों को इधर-उधर चीयर करते देखते हैं। यह एक अलग माहौल है और जब हम अपना राष्ट्रगान गा रहे हिते हैं, तो वास्तव में मेरे रोंगटे खड़े हो जाते हैं।

यह भी पढ़ें- क्या कपिल देव को भारतीय खिलाड़ियों पर नहीं है भरोसा? क्यों कहा- ‘सेमीफाइनल में खेलने के लिए भारत के पास 30% मौका’