Prithvi Shaw ने क्रिकेट स्टूडेंट को सिखाया शॉर्ट खेलना, बच्चों ने पूछे रोचक सवाल

Prithvi Shaw

Prithvi Shaw ने क्रिकेट स्टूडेंट को सिखाया शॉर्ट खेलना, बच्चों ने पूछे रोचक सवाल

टीम इंडिया के खिलाड़ी पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) क्रिकेट खेलने वाले स्टूडेंट को कई तरह से शॉट खेलने की टेक्निक बताते नजर आए. उन्होंने बताया कि किस तरह मैदान पर बड़े-बड़े शॉट आसानी से खेले जा सकते हैं. आपको बता दें कि पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) खुद एक ऐसे खिलाड़ी माने जाते हैं जो मैदान पर बड़े- बड़े शॉट खेलने में माहिर हैं. यही नहीं टीम इंडिया के लिए खेलते हुए उन्होंने कई मैच भी जीते हैं जहां क्रिकेट स्टूडेंट को उन्होंने इसी के साथ बेहद ही शानदार टिप्स भी बताए.

Prithvi Shaw से क्रिकेट स्टूडेंट ने पूछा ढेरों सवाल

prithvi class

टीम इंडिया के खिलाड़ी पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) जब क्रिकेट स्टूडेंट के पास पहुंचे तो स्टूडेंट ने ढेरों सवाल किए. एक स्टूडेंट ने पूछा कि पृथ्वी शॉ किस प्रकार आईपीएल में अच्छे बालर्स के खिलाफ अपने आप को एग्जीक्यूट करते हैं और अपना गेम किस प्रकार खेलते हुए पावर प्ले में अटैक करते हैं जिसके जवाब में पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) ने उस बच्चे से पूछा कि आप किस तरह के बैट्समैन हो अटैकिंग बैट्समैन या फिर प्लेइंग बैट्समैन जहां बच्चे ने बताया कि मैं अटैकिंग बैट्समैन हूं.

पृथ्वी शॉ ने बताया कि फिर आपको बखूबी पता होगा कि आपको क्या करना है जितना प्रैक्टिस करोगे या उसके ऊपर डिपेंड करता है कि आप किस प्रकार मैच में प्रदर्शन करते हैं. मैच खेलने का यहीं अच्छा तकनीक है कि बस गेंद पर ध्यान रखें और अपने खेल को बनाए रखें.

बड़े बड़े खिलाड़ियों से की जाती है तुलना

prithvi show

आपको बता दें कि पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) को आखरी बार इस साल की शुरुआत में रणजी ट्रॉफी 2022 के दौरान एक्शन में देखा गया था. उन्होंने सीजन के फाइनल में मुंबई टीम का नेतृत्व किया था जहां सफल रणजी टीम फाइनल में मध्यप्रदेश के हार गई और उप विजेता रही. आपको बता दें कि पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) टीम इंडिया के एक ऐसे खिलाड़ी माने जाते हैं जिनकी हमेशा तुलना वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंदुलकर जैसे बड़े- बड़े खिलाड़ियों से भी की जाती है क्योंकि उनके शॉर्ट में बड़े- बड़े खिलाड़ियों की झलक देखने को मिलती है.

टीम इंडिया में जगह बना पाना है मुश्किल

prithvi

साल 2018 में पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) की कप्तानी में टीम इंडिया अंडर-19 वर्ल्ड कप भी जीत चुकी है. इसके अलावा पृथ्वी शॉ की कप्तानी में टीम इंडिया ग्रुप बी में 3 में से तीन मैच जीतकर टॉप पर थी लेकिन देखा जाए तो साल 2018 में टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने के बाद उन्होने लिमिटेड ओवर में भी अपना डेब्यू किया लेकिन अब काफी महीने से वो टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं.

देखा जाए तो ईशान किशन और ऋतुराज गायकवाड जैसे खिलाड़ियों की आ जाने से पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) टीम इंडिया में अपनी जगह नहीं बना पा रहे हैं जो उनके लिए अब और भी मुश्किल होता जा रहा है.

यह भी पढ़ें- Asia Cup में ये पांच गेंदबाज तय करेंगे भारत-पाकिस्तान की जीत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *