आखिर कब Team India में आएंगे धोनी- युवराज जैसे खिलाड़ी, बैटिंग हो चुकी है फ्लॉप

Team India

आखिर कब Team India में आएंगे धोनी- युवराज जैसे खिलाड़ी, बैटिंग हो चुकी है फ्लॉप

टी-20 वर्ल्ड कप से पहले टीम इंडिया (Team India) का प्रदर्शन हर किसी के लिए एक बहुत टेंशन बन चुकी है क्योंकि जिस तरह एशिया कप में टीम इंडिया की बल्लेबाजी से लेकर गेंदबाजी पूरी तरह फ्लॉप दिखी, वह टी-20 वर्ल्ड कप में एक बार फिर से टीम इंडिया के लिए सिरदर्द ना बन जाए इस वजह से अगर इन सारे परेशानियों को पहले ही दूर कर लिया जाए तो फिर नतीजा कुछ और हो सकता है.

कई एक्सपर्ट और दिग्गज खिलाड़ी भी इस बात को मान चुके हैं कि 6 ओवर से लेकर 15 ओवर के बीच टीम इंडिया (Team India) के खिलाड़ियों की रन बनाने की गति बेहद ही धीमी हो जाती है. कई बार मुकाबला इसी वजह से टीम के हाथों से निकल जाता है.

रन बनाने वाले बल्लेबाजों की है कमी

बीते कई मुकाबले में अगर टीम इंडिया (Team India) के प्रदर्शन पर एक नजर डालें तो कई मैच में ऐसा हुआ है कि टीम इंडिया के सारे के सारे दिग्गज खिलाड़ी बिना कोई कमाल किए आउट हो गए हो. ये वह पल होता है जब टीम इंडिया को इन खिलाड़ियों से सबसे ज्यादा शानदार प्रदर्शन की उम्मीद होती है जिस वजह से कई बार बड़े-बड़े मुकाबले भी टीम इंडिया (Team India) के हाथ से निकल चुके हैं लेकिन टी-20 वर्ल्ड कप से पहले टीम इंडिया को इन सभी मसलों पर बेहद गंभीरता से विचार करना होगा वरना एक बार फिर एशिया कप वाली दुर्दशा दोहराई जा सकती हैं.

यह भी पढ़ें- Team India की जर्सी का रंग बदला, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

ये है Team India की कमजोरी

जिस तरह से एशिया कप में टीम इंडिया (Team India) के बल्लेबाज से उम्मीद की गई थी, वो उन उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे. इसका एक कारण भारत की बल्लेबाजी को भी दिया जा सकता है जिसमें खासकर छठ़े विकेट के बाद टीम इंडिया एकदम कमजोर की तरह दिखाई पड़ती है. सबसे चौंकाने वाली बात तो यह है कि अगर 6 खिलाड़ी आउट हो चुके हैं तो इसके बाद किसी भी खिलाड़ी से चौके या छक्के की उम्मीद नहीं की जा सकती जो टीम इंडिया के लिए एक बहुत बड़ा चिंता का विषय है. यही वजह है कि आज भी महेंद्र सिंह धोनी और युवराज सिंह जैसे खिलाड़ी की जरूरत टीम इंडिया नहीं पूरी कर पाई है.

यह भी पढ़ें- वर्ल्ड कप के वक्त Shubman Gill को भूले सेलेक्टर, BCCI नें मोड़ा मुंह

इन खिलाड़ियों को देना होगा ध्यान

टी-20 वर्ल्ड कप को ध्यान में रखते हुए युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, अर्शदीप सिंह और जसप्रीत बुमराह जैसे बड़े गेंदबाजों को गेंदबाजी के साथ-साथ बल्लेबाजी पर भी थोड़ा फोकस करना होगा ताकि ऐन मौके पर जब टीम इंडिया (Team India) के आठवें या नौवें खिलाड़ी की खेलने की बारी आ जाए तो यह खिलाड़ी कुछ शॉट लगाने में कामयाब हो. ऐसे में प्लेइंग इलेवन में इन खिलाड़ियों की मौजूदगी भारत को मजबूती प्रदान करेगी.

यह भी पढ़ें- Sanju Samson को BCCI ने बनाया कप्तान, मिली बड़ी जिम्मेदारी