Rohit Sharma कब तक करेंगे हर्षल और भूवी का बचाव, वर्ल्ड कप में होगा बुरा हाल

Rohit Sharma

Rohit Sharma कब तक करेंगे हर्षल और भूवी का बचाव, वर्ल्ड कप में होगा बुरा हाल

टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) का हौसला भले ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज जीतकर बुलंदियों पर होगा लेकिन इस सीरीज के दौरान रोहित शर्मा द्वारा लगातार उन खिलाड़ियों को मौका देते हुए देखा गया जिन्होंने हर बार खराब प्रदर्शन दिखाया. इसके बावजूद भी रोहित शर्मा (Rohit Sharma) उन खिलाड़ियों का बचाव करते नजर आए जो टी- 20 वर्ल्ड कप में उन पर भारी पड़ सकता है. ऐसे में फैंस रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की इस हरकत पर काफी नाराज हैं.

इन खिलाड़ियों का बचाव कर रहे Rohit Sharma

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुई तीन मैचों की टी-20 सीरीज में टीम इंडिया की तरफ से हर्षल पटेल एक ऐसे गेंदबाज साबित हुए जिन्होंने सबसे खराब गेंदबाजी की. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टी-20 मैच में हर्षल पटेल अपने 4 ओवर में 49 रन लुटाए जिन्हें कोई सफलता नहीं मिली. दूसरे मुकाबले में भी अपने 2 ओवर में उन्होंने 32 रन दिए और तीसरे और आखिरी टी-20 में 2 ओवर में उन्होंने 18 रन लुटाए और केवल एक सफलता हाथ लगी लेकिन मुसीबत की बात तो यह है कि रोहित शर्मा लगातार हर्षल पटेल का बचाव कर रहे हैं और उन्हें मौका दिए जा रहे है.

यह भी पढ़ें- Breaking: Deepika Padukone की बिगड़ी तबियत, मुंबई के अस्पताल में हुई भरती

इन खिलाड़ियों को देंगे और समय

रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को बार-बार यह गलती देखा गया कि कई बार निर्णायक मुकाबले में रोहित शर्मा ऐसे खिलाड़ियों को मौका देते नजर आए जो पिछले बार में भारत की नैया डूब आ चुकी है. इसके बाद भी वह अपनी गलती से नहीं सीख रहे हैं. हर्षल पटेल और भुवनेश्वर कुमार के इस तरह के प्रदर्शन के बाद वह लगातार इनका समर्थन कर रहे हैं और उन्हें और भी ज्यादा समय देने की बात कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें- IND vs SA: तिरुवनंतपुरम पहुंची टीम इंडिया, कल होगा पहला मुकाबला

जसप्रीत बुमराह भी कर रहे संघर्ष

चोट के बाद वापसी कर रहे हैं जसप्रीत बुमराह भी विकेट हासिल करने के लिए मैदान पर पूरी तरह संघर्ष करते नजर आए जिन्हें लेकर रोहित शर्मा (Rohit Sharma) ने कहा कि इंजरी के बाद वापसी करना आसान नहीं होता है. वह 2 महीने तक क्रिकेट से दूर थे. जब भी कोई गेंदबाज इंजरी से वापस आता है तो उसके लिए वापसी करना आसान नहीं होता. इसलिए मैं इन खिलाड़ियों को और भी ज्यादा मैचों में प्रदर्शन करने का मौका दूंगा. केवल 3 मैचों के प्रदर्शन से जज नहीं कर सकता हूं.

यह भी पढ़ें- Sanju Samson को जल्द बनाए जायेंगे टीम इंडिया का उप कप्तान